<<

 

>>

खास खबरें

महत्वपूर्ण खबरें

पुस्तक चर्चा

आवरण कथा

दृश्य-परिदृश्य

उपलब्धि

विभागीय गतिविधियाँ

विशेष

प्रशिक्षण

योजन

कानून-चर्चा

खेती-किसान

पंचायत गजट

आपकी बात

पुराने अंक

सम्पादकीय परिवार

 
  • आपकी बात :    Top

कृपया बताएं

माह की कविता

Top

कृपया बताएं

प्रिय सरपंच जी, जैसा कि आप जानते ही हैं 'कृपया बताएं' कॉलम में हम आपको हर माह किसी एक योजना का नाम सुझाते हैं। आप उस योजना के बारे में पंचायतों द्वारा क्या किया गया है तथा क्या और किया जा सकता है उस बारे में स्वतंत्र टिप्पणी लिख सकेंगे। उस टिप्पणी के नीचे अपना नाम, पदनाम, ग्राम पंचायत का नाम, जनपद पंचायत का नाम, जिला पंचायत का नाम तथा भेजने की तारीख अवश्य लिखें। इस स्तम्भ में हमें पाठकों से बड़ी संख्या में प्रविष्टियाँ मिलने की उम्मीद रहती है। पंचायत राज संस्थायें अधिकांश सरकारी योजनाओं के संचालन में नोडल एजेंसी का कार्य करती हैं। इस दृष्टि से किसी भी सरकारी योजना के क्रियान्वयन में सबसे प्रभावी टिप्पणी पंचायत राज संस्था की होती है।

मार्च 2014 के लिए इस बार विषय है

क्या आपकी ग्राम पंचायत में जैविक खेती को प्रोत्साहन दिया गया है?

 

माह की कविता

नदियों को जोड़कर

जोड़कर नदियों का नया

इतिहास बनायेंगे।

दर-दर, घर-घर, खेत-खेत

खुशियाँ पहुँचायेंगे॥

आज नर्मदा के जल से

क्षिप्रा में गति है।

भगीरथी इस कोशिश पर

सबकी सहमति है॥

प्रकृति सम्मत यह जुड़ाव -

फिर-फिर दोहरायेंगे। ॥1

    जोड़कर नदियों .....

व्रत-त्यौहार, स्नान-ध्यान को

बहता जल हो।

हो अथाह जलराशि जहाँ

जल-जल की कल-कल हो॥

नदियों के नए संगम पर

हम तीर्थ बनायेंगे। ॥2

    जोड़कर नदियों .....

बढ़ेगा और सिंचाई का रकबा

गाँव-गाँव पहुँचेगा पानी।

यह विकास का बीज-मंत्र है -

जुड़ने की ताकत पहचानी॥

नदियों के मिज़ाज के माफिक -

राह बनायेंगे ॥3

    जोड़कर नदियों .....

  Top

 
 
     
Copyright 2009, Madhya Pradesh Panchayika, All Rights Reserved   वेबसाइट : आकल्पन, संधारण एवं अद्यतन 'वेबसेल' मध्यप्रदेश माध्यम द्वारा